DSC_3083
DSC_3083

पेफी 2016 पुरस्कार में देश के विभिन्न क्षेत्रों से खेल प्रशिक्षकों व शारीरिक शिक्षकों ने लिया भाग।

योग व फिटनेस पर हुआ चिंतन मनन

नई दिल्ली।

बक्सर बिहार से भाजपा सांसद अश्विनी चौबे ने कहा कि प्रधानमंत्री के कुशल नेतृत्व में भारत खेल की दुनिया में भी नाम रौशन करेगा। प्रधानमंत्री के नरेंद्र मोदी के एक प्रयास से विश्व ‘योग’ के सूत्र में पिरो गया। निश्चित तौर पर देश में खेल व्यवस्थाएं भी सुधरेगी। खेल, खिलाड़ियों और प्रशिक्षकों काे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बेहतर प्रतिभा के लिए तैयार किया जाएगा। फिजीकल एजुकेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया(पेफी) का यह प्रयास भी सभी की हौसला अफजाई करेगा।

वे प्रगति मैदान में आयोजित तीन दिवसीय स्पोर्टस इंडिया 2016 के दौरान 23 अगस्त को पेफी और इंडियन ट्रेड फेयर एकेडमी द्वारा आयोजित पेफी अवार्ड और योग व फिटनेस पर बोल रहे थे। उन्होंने जिस तरह से पेफी कार्य रही है। यह काबिले तारीफ है। उन्होंने खेल प्रशिक्षकों व शारीरिक शिक्षकों को एक प्लेटफार्म देश में दिया है। इस तरह के कार्य के लिए आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि बिहार में स्वास्थ्य मंत्री रहते हुए उन्होंने योग की अलख जगाई थी। शरीर स्वस्थ है तभी आप सामाजिक रूप से सक्रिय रह सकते हैं। उन्होंने नियमित रूप से सभी को योग करने की सलाह दी। हंगरी के व्हाइट मोनेस्ट्री के चीफ गुरू करमा तानपेई ने कहा कि योग व ध्यान से दुनिया बदल सकती है। पेफी ने जो कर दिखाया है। इसे सभी के लिए प्रेरणा लेने की आवश्यकता है। उन्होंने ध्यान की विभिन्न पद्धतियों से सभी को रूबरू कराया। एक डोमे के माध्यम से सभी को ध्यान की विधि से जोड़ा। कार्यक्रम की अध्यक्षता पेफी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल कोठारी ने किया। पूर्व वाइस चांसलर डॉ. ए के उप्पल ने वर्कशॉप की सराहना की। उन्होंने कहा कि पेफी ने एक साल में  कई महत्वपूर्ण कार्य किए। जो शारीरिक शिक्षा के क्षेत्र में मील के पत्थर की तरह है। इस अवसर पर देश के विभिन्न राज्यों से आने वाले 9 शारीरिक शिक्षकों व प्रशिक्षकों को पेफी अवार्ड 2016 से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर अर्जुनी अवार्डी यशपाल सोलंकी, डॉ. सुनीता गोदारा, डॉ. ब्रिज किशोर प्रसाद, डॉ. विक्रम सिंह, यूजीसी के डायरेक्टर राजवीर सिंह, संजीव त्यागी, डॉ. उदय चौहान, डॉ. हेमंत वर्मा, निखिल त्यागी, इम्तियाज खान, विपिन शर्मा, मिस्टर इंडिया अमित चौधरी आदि उपस्थित थे।

DSC_3138DSC_3147.jpgDSC_3227

So, what do you think ?

Contact Us Top